Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

चौथी बिम्सटेक सम्मेलन

Fourth BIMSTEC Conference
  • वर्तमान संदर्भ
  • दक्षिण एशिया एवं दक्षिण-पूर्व एशिया के मध्य एक सेतू का कार्य करने वाला बिम्सटेक समूह का चौथा सम्मेलन 30-31 अगस्त, 2018 के मध्य काठमांडू नेपाल में संपन्न हुआ। गौरतलब है कि बिम्सटेक की तीसरी शिखर बैठक म्यांमार के नाय प्यी टा (Nay Pyi Taw) में मार्च, 2014 में संपन्न हुआ।




  • महत्वपूर्ण बिंदु
  • चौथे बिम्सटेक शिखर सम्मेलन का मुख्य विषय- ‘शांतिपूर्ण, समृद्ध और स्थिर बंगाल की खाड़ी क्षेत्र का लक्ष्य’ था।
  • चौथे बिम्सटेक शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता नेपाल के प्रधानमंत्री के.पी. शर्मा ओली ने की तथा भारत का प्रतिनिधित्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया। इसके अलावा सम्मेलन में बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना, थाईलैंड के प्रधानमंत्री प्रयुत चान ओचा, श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना, म्यांमार, के राष्ट्रपति विन मिन्त तथा भूटान की तरफ से मुख्य सलाहकार दाशो शेरिंग वांगचुक ने भाग लिया।
  • अगस्त, 2020 भारत में होने वाले ‘अंतरराष्ट्रीय बुद्धिस्ट कॉनक्लेव’ में बिम्सटेक सदस्य देश ‘गेस्ट ऑफ ऑनर’ के रूप में प्रतिभाग करेंगे।




  • इस सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बंगाल की खाड़ी क्षेत्र में कला, संस्कृति, सामुद्रिक कानूनों एवं अन्य विषयों पर शोध के लिए नालंदा विश्वविद्यालय में एक ‘सेंटर फॉर वे ऑफ बंगाल स्टडीज’ की स्थापना की बात कही।
  • इस सम्मेलन में सदस्य देशों में ऊर्जा सहयोग को बढ़ाने के लिए बिम्सटेक ग्रिड इंटर कनेक्शन की स्थापना के लिए सहमति-पत्र पर भी हस्ताक्षर किया गया।
  • अगला शिखर सम्मेलन श्रीलंका में प्रस्तावित है।
  •  चौथे बिम्सटेक सम्मेलन का घोषणापत्र
  1. वर्ष 2030 तक बंगाल की खाड़ी क्षेत्र से निर्धनता उन्मूलन के प्रति प्रतिबद्धता दर्शाया गया।
  2. इन देशों के मध्य (बिम्सटेक) रेलमार्ग, जलमार्ग एवं वायु सेवाओं का विकास, विस्तार तथा आधुनिकीकरण।
  3. बिम्सटेक देशों के मध्य मुक्त व्यापार क्षेत्र (FTA) को शीघ्र पूर्ण करने के प्रति वचनबद्ध।
  4. दिसंबर, 2018 में बिम्सटेक स्टार्ट-अप सभा भारत में प्रस्तावित।
  5. मार्च, 2019 में बिम्सटेक के राष्ट्रीय सुरक्षा प्रमुखों की तीसरी बैठक थाईलैंड में प्रस्तावित।
  • बिम्सटेक
  • ‘द बे ऑफ बंगाल इनिशिएटिव फॉर मल्टीसेक्टरल टेक्निकल एंड इकोनोमिक कोऑपरेशन’ में बंगाल की खाड़ी के आस-पास के सात देश भारत, भूटान, नेपाल, बांग्लादेश, श्रीलंका, म्यांमार तथा थाईलैंड शामिल हैं। दिसंबर, 1997 में म्यांमार के सम्मिलित होने से ‘BIMST-EC’ का निर्माण हुआ एवं फरवरी, 2004 में नेपाल एवं भूटान के शामिल होने पर वर्तमान ‘BIMSTEC’ (बिम्सटेक) का निर्माण हुआ।

लेखक-अनुज तिवारी