Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

ऑस्ट्रेलिया में समलैंगिक विवाह स्वीकृत

  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 8 दिसंबर, 2017 को ऑस्ट्रेलियाई सरकार द्वारा ‘विवाह संशोधन (परिभाषा और धार्मिक स्वतंत्रता) विधेयक, 2017’ को स्वीकृति प्रदान की गई।
  • यह विधेयक 7 दिसंबर, 2017 को ऑस्ट्रेलियाई सीनेट एवं प्रतिनिधि सभा द्वारा पारित किया गया था।
  • विशेषताएं
  • गौरतलब है कि ऑस्ट्रेलिया के विवाह अधिनियम, 1961 में संशोधन कर इस नए ‘विवाह संशोधन (परिभाषा और धार्मिक स्वतंत्रता) अधिनियम, 2017’ को लागू किया गया है।
  • यह अधिनियम 9 दिसंबर, 2017 को प्रभाव में आया।
  • अधिनियम के तहत विवाह को पुनर्परिभाषित करते हुए समलैंगिक विवाह को मंजूरी प्रदान की गई है।
  • अन्य महत्वपूर्ण तथ्य
  • समलैंगिक विवाह को अनुमति देने वाला ऑस्ट्रेलिया विश्व का 26वां देश बन गया है।
  • ऑस्ट्रेलिया के पहले वर्ष 2017 में जर्मनी एवं माल्टा ने भी समलैंगिक विवाह को मंजूरी दी थी।
  • दिसंबर, 2000 में समलैंगिक विवाह को वैधानिकता प्रदान करने वाला विश्व का पहला देश नीदरलैंड्स था।
  • भारत में समलैंगिकता
  • भारतीय दंड संहिता (IPC), 1860 की धारा 377 के तहत समलैंगिकता संज्ञेय अपराध है जिसके लिए आजीवन कारावास तक की सजा का प्रावधान है।
  • जुलाई, 2009 में नाज फाउंडेशन की याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली उच्च न्यायालय ने निर्णय दिया था कि समलैंगिक संबंध आईपीसी की धारा 377 के तहत अपराध नहीं है।
  • दिसंबर, 2013 में उच्चतम न्यायालय ने दिल्ली उच्च न्यायालय के फैसले को पलटते हुए कहा कि धारा 377 में परिवर्तन का अधिकार केवल संसद को है।
  • अद्यतन स्थिति यह है कि भारत में समलैंगिक संबंध एक दंडनीय अपराध है।

लेखक नीरज ओझा