Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

इब्सा शेरपाओं की पहली बैठक

  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 1-3 अप्रैल, 2018 के मध्य चेन्नई, तमिलनाडु में इब्सा (IBSA : India, Brazil and South Africa) के शेरपाओं/सूस शेरपाओं (Sherpas/sous Sherpas) की पहली बैठक आयोजित हुई।
  • महत्वपूर्ण तथ्य
  • बैठक में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व विदेश मामलों के सचिव (आर्थिक संबंध) टी.एस. तिरुमूर्ति ने किया।
  • दक्षिण अफ्रीका गणराज्य के शेरपा प्रो. अनिल सूकलाल और ब्राजील के वैकल्पिक शेरपा केनेथ नोब्रेगा ने अपने-अपने देश के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया।
  • बैठक में पर्यटन मंत्रालय, अनुसंधान एवं सूचना प्रणाली (RIS), भारतीय विकास सहयोग मंच (FIDC) और ब्लू इकोनॉमी फोरम के प्रतिनिधि भी शामिल हुए।
  • शेरपाओं ने वर्ष 2018-19 में इब्सा (IBSA) की 15वीं वर्षगांठ का स्वागत करते हुए शेरपाओं ने इस अवसर को उचित तरीके से मनाने के लिए केंद्रित एवं वास्तविक कार्यक्रम आयोजित करने पर सहमति व्यक्त की।
  • उन्होंने वर्ष 2017 में डरबन में आयोजित इब्सा मंत्रिस्तरीय बैठक के निर्णयों को आगे बढ़ाने पर सहमति व्यक्त की जिससे इब्सा की गतिविधियों में अतिरिक्त वृद्धि की जा सके।
  • शेरपाओं ने इब्सा फंड द्वारा 15 देशों में गरीबी एवं भूख के निवारण के लिए पूरी की गई लगभग 27 परियोजनाओं की सराहना की।
  • उन्होंने भारत की पहल पर शुरू की गई विकासशील देशों हेतु अनुसंधान एवं सूचना प्रणाली (RIS) पर ‘इब्सा छात्रवृत्ति कार्यक्रम’ की भी सराहना की।
  • बैठक में वर्ष के दौरान इब्सा गतिविधियों के आयोजन और इब्सा कार्यदलों को समेकित करने पर चर्चा की गई।
  • संबंधित सहयोग के तहत सार्थक और प्रभावकारी परियोजनाओं के कार्यान्वयन पर बल दिया गया।
  • बैठक में इब्सा ब्रांड दृश्यता को बढ़ाने के लिए योजनाओं के कार्यान्वयन पर सहमति व्यक्त की गई।
  • बैठक में सतत विकास लक्ष्यों पर इब्सा सहयोग, वैश्विक शासन का सुधार, ब्लू इकोनॉमी,  इब्सा रक्षा सहयोग, पर्यटन एवं सांस्कृतिक सहयोग, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सुधार आदि पर चर्चा की गई।
  • अन्य महत्वपूर्ण तथ्य
  • 6 जून, 2003 के ब्राजीलिया घोषणा-पत्र द्वारा इब्सा का गठन किया गया था।
  • यह भारत, ब्राजील एवं दक्षिण अफ्रीका का एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है।
  • इसका उद्देश्य एक नए अंतरराष्ट्रीय संगठन की स्थापना में योगदान देना, वैश्विक मुद्दों पर अपने विचारों को समान बनाना और विभिन्न क्षेत्रों में अपने संबंधों को मजबूत बनाना है।
  • अक्टूबर, 2017 में डरबन, दक्षिण अफ्रीका में 8वीं इब्सा त्रिपक्षीय मंत्रिस्तरीय बैठक आयोजित हुई थी।

लेखक-नीरज ओझा