Contact Us: 0532-2465524, 25, M.-9335140296    
E-mail : [email protected]

इंप्रिंट-2 : 122 नई परियोजनाओं को स्वीकृति

October 25th, 2018
Imprint -2: 122 Approval of new projects
  • वर्तमान परिदृश्य
  • 4 अगस्त, 2018 को केंद्रीय मानव संसाधान विकास मंत्री की अध्यक्षता में हुई इंप्रिंट-2 (IMPRINT-2) सर्वोच्च समिति की बैठक में 112 करोड़ रुपये की लागत से 122 नए शोध परियोजना प्रस्ताव को मंजूरी दी गई।
  • उद्देश्य
  • ऊर्जा, सुरक्षा, हेल्थकेयर, उन्नत सामग्री (Advanced Materials), सूचना व संचार तकनीक तथा रक्षा क्षेत्र को आच्छादित करने वाली उपरोक्त परियोजनाओं से संबंधित शोध कार्य उच्च शिक्षा संस्थाओं में संपादित होंगे।




  • जिससे इन संस्थाओं में अनुसंधान गतिविधियों को प्रेरित किया जा सकेगा।
  • इंप्रिंट2 (इम्पैक्ंिटग रिसर्च इनोवेशन एंड टेक्नोलॉजी)
  • यह केंद्र सरकार का कार्यक्रम है, जो शोध, अनुसंधान व नवोन्मेष के प्रोत्साहन को समर्पित है।
  • इंप्रिंट-2 के तहत 1000 करोड़ रुपये की धनराशि आवंटित की गई है।




  • साथ ही विज्ञान व प्रौद्योगिकी विभाग तथा मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने साथ मिलकर एक कोष का निर्माण किया है।
  • विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के सहयोग से ‘इंप्रिंट-2’, एक पृथक कार्ययोजना के रूप में संचालित की जाएगी।
  • नेपथ्य से
  • ‘इंप्रिंट इंडिया’ कार्यक्रम का शुभारंभ नवंबर, 2015 में तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा किया गया था।
  • इसकी शुरुआत देश भर के आईआईटी एवं आईआईएससी (IISc) की संयुक्त पहल के रूप में की गई, जो भारत के लिए महत्वपूर्ण दस प्रौद्योगिकी क्षेत्रों में बड़ी अभियांत्रिकी एवं तकनीकी चुनौतियों के समाधानार्थ एक अभिन्यास विकसित करेगी।
  • विशेषताएं
  • ‘इंप्रिंट-2’ के तहत वित्तपोषण के लिए 2145 प्रस्तावों में से 122 सर्वश्रेष्ठ प्रस्तावों का चयन किया गया।
  • अनुसंधान परियोजनाओं की प्रगति की निगरानी और निष्कर्षों का प्रसार करने के लिए अक्टूबर, 2018 में एक ज्ञान पोर्टल लांच किया जाएगा।




  • चयनित 122 शोध परियोजना प्रस्तावों में 35 सूचना व संचार तकनीक (ICT), 18 उन्नत सामग्री, 17 हेल्थकेयर प्रौद्योगिकी, 12 ऊर्जा सुरक्षा, 11 सुरक्षा एवं रक्षा (Security & Defence), 9 सतत आवास, 7 जल संसाधन और नदी प्रणाली, 5 पर्यावरण व जलवायु, 4 विनिर्माण तथा 4 नैनो प्रौद्योगिकी के क्षेत्र से शामिल हैं।
  • ध्यातव्य है कि इंप्रिंट-1 के तहत 142 परियोजनाओं का कार्यान्वयन पहले से ही चल रहा है।
  • अन्य महत्वपूर्ण तथ्य
  • वैज्ञानिक उपकरणों में संचयी विदेशी प्रत्यक्ष निवेश वर्ष 2008 के 10.81 मिलियन अमेरिकी डॉलर से बढ़ कर दिसंबर, 2017 में 260.46 मिलियन डॉलर हो गया है।
  • जनवरी, 2017 तक, भारतीय आविष्कारकों ने आईबीएम को 658 पेटेंटों का योगदान दिया है।
  • जिसके फलस्वरूप आईबीएम वर्ष 2016 में अमेरिकी पेटेंट प्राप्तकर्ताओं की सूची में शीर्ष पर रहा।
  • ध्यातव्य है कि आईबीएम ने कुल 8,088 अमेरिकी पेटेंट दायर किए जिसके ठीक बाद सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स (55,18 पेटेंट) रहा।
  • 6
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    6
    Shares
  •  
    6
    Shares
  • 6
  •  
  •  
  •  
  •  
  •