Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

आकांक्षी जिलों की आधारभूत रैंकिंग

  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 28 मार्च, 2018 को नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत ने 101 आकांक्षी जिलों की आधारभूत रैंकिंग (Baseline Ranking of Aspirational District) जारी किया।
  • यह रैंकिंग पांच विकासात्मक क्षेत्रों, नामतः स्वास्थ्य एवं पोषण, शिक्षा, कृषि एवं जल संसाधन, वित्तीय समावेशन एवं कौशल विकास और आधारभूत अवसंरचना में 49 संकेतकों (81 आंकड़ा बिंदुओं) के प्रकाशित आंकड़ों पर आधारित है।
  • महत्वपूर्ण तथ्य
  •  ‘आकांक्षी जिलों की आधारभूत रैंकिंग’ में पश्चिम बंगाल एवं केरल के अतिरिक्त सभी राज्यों को शामिल किया गया है।
  • इस रैंकिंग में आंध्र प्रदेश के विजयनगरम (48.13 अंक) को शीर्ष स्थान प्राप्त हुआ है, जबकि हरियाणा के मेवात (26.02 अंक) का अंतिम स्थान है।
  • राजनंदगांव (छत्तीसगढ़), ओस्मानाबाद (महाराष्ट्र), कडप्पा (आंध्र प्रदेश), रामनाथपुरम् (तमिलनाडु), ऊधमसिंह नगर (उत्तराखंड), महासमुंद (छत्तीसगढ़), खम्माम (तेलंगाना) और विशाखापत्तनम (आंध्र प्रदेश) को रैंकिंग में उच्च स्थान प्राप्त हुआ है।
  • रैंकिंग में निचला स्थान प्राप्त करने वाले जिलों में आसिफाबाद (तेलंगाना), सिंगरौली (मध्य प्रदेश), किपशायर (नगालैंड), श्रावस्ती, सिद्धार्थनगर एवं बलरामपुर (उत्तर प्रदेश), नामसाई (अरुणाचल प्रदेश) और सुकमा (छत्तीसगढ़) शामिल हैं।
  • 1 अप्रैल, 2018 से वास्तविक समय आंकड़ा संग्रहण और निगरानी हेतु ‘चैंपियंस ऑफ चेंज’ डैशबोर्ड लोगों के लिए उपलब्ध हुआ।
  • यह डैशबोर्ड सभी आकांक्षी जिलों के जिलाधिकारियों को उनके जिलों के उपलब्ध आंकड़ों को अपरोड करने की सुविधा प्रदान करेगा।
  • अन्य महत्वपूर्ण तथ्य
  • जनवरी, 2018 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘आकांक्षी जिलों का रूपांतरण’ (Transformation of Aspirational Districts) कार्यक्रम की शुरुआत की थी।
  • इस कार्यक्रम का उद्देश्य देश के सबसे अधिक अविकसित कुछ जिलों का तेजी से एवं प्रभावी तरीके से रूपांतरण करना है।
  • कार्यक्रम की व्यापक रूपरेखा में केंद्रीय एवं राज्य की योजनाओं का सम्मिलन (Convergence), केंद्रीय, राज्य स्तरीय प्रभारी अधिकारियों एवं जिलाधिकारियों का सहयोग और जिलों के मध्य जन आंदोलन द्वारा संचालित प्रतिस्पर्धा को शामिल किया गया है।

लेखक-नीरज ओझा