Contact Us: 0532-2465524, 25, M.-9335140296    
E-mail : ssgcpl@gmail.com

अल-जनद्रियाह महोत्सव

February 28th, 2018
  • वर्तमान परिप्रेक्ष्य
  • 7-24 फरवरी, 2018 के मध्य सऊदी अरब के रियाद के निकट जनद्रियाह नामक स्थान पर सऊदी अरब का ‘32वां राष्ट्रीय धरोहर एवं सांस्कृतिक महोत्सव’ (32nd National Heritage & Cultural Festival) आयोजित हुआ।
  •  इस महोत्सव को पूर्व में ‘अल-जनद्रियाह महोत्सव’ (Al-Janadriyah Festival) के नाम से जाना जाता था।
  • महोत्सव का विवरण
  • अल-जनद्रियाह महोत्सव सऊदी अरब के सर्वाधिक प्रतिष्ठित आयोजनों में से एक है।
  •  यह महोत्सव सर्वप्रथम वर्ष 1985 में आयोजित किया गया था।
  •  इस महोत्सव के दौरान लोक नृत्य, ऊंटों की दौड़, कला, शिल्प जैसी पारंपरिक गतिविधियों के साथ-साथ कविता पाठ आदि का भी आयोजन किया जाता है।
  • 32वां संस्करण
  • 7 फरवरी, 2018 को भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की उपस्थिति में सऊदी अरब के सुल्तान सलमान बिन अब्दुल अजीज अल-सौर ने अल-जनद्रियाह महोत्सव के 32वें संस्करण का उद्घाटन किया।
  • उल्लेखनीय है कि भारत की विदेश मंत्री 6-8 फरवरी, 2018 के मध्य सऊदी अरब की अपनी पहली आधिकारिक यात्रा पर गईं थी।
  • भारतीय परिप्रेक्ष्य में
  • 18 दिन तक चले जनद्रियाह महोत्सव के 32वें संस्करण में भारत को ‘विशिष्ट अतिथि देश’ (Guest of  Honour) का दर्जा दिया गया था।
  •  यह प्रथम अवसर था जब भारत को इस महोत्सव में यह दर्जा प्राप्त हुआ।
  •  इस महोत्सव के अवसर पर निर्मित भारतीय मंडप (Indian Pavilion) ‘सऊदी का दोस्त भारत’ के केंद्रीय विषय पर आधारित था।
  • अन्य महत्वपूर्ण तथ्य
  • वर्तमान में सऊदी अरब भारत का चौथा सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार है।
  • वर्ष 2016-17 में दोनों देशों के मध्य 25 बिलियन अमेरिकी डॉलर से अधिक का द्विपक्षीय व्यापार हुआ है।
  • साथ ही सऊदी अरब, भारत को कच्चे तेल का सबसे बड़ा आपूर्तिकर्ता है।
  • भारत द्वारा कच्चे तेल के कुल वार्षिक आयात के लगभग 20 प्रतिशत के लिए सऊदी अरब ही उत्तरदायी है।
  •  सऊदी अरब में रहने वाले लगभग 3.2 मिलियन भारतीयों का समुदाय, वहां का सबसे बड़ा प्रवासी समूह है।

लेखक-सौरभ मेहरोत्रा

  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    1
    Share