Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: ssgcpl@gmail.com

अल्फांसो आम को जी.आई. टैग

'Geographical Registry Registry Office' Government of India
    • वर्तमान परिदृश्य
    • 5 अक्टूबर, 2018 को चेन्नई स्थित ‘भौगोलिक उपदर्शन रजिस्ट्री कार्यालय’ भारत सरकार द्वारा कोंकण (महाराष्ट्र) के अल्फांसो आम को भौगोलिक संकेतक (Geographical Indication : GI) प्रदान किया गया।
    • अल्फांसो आम




    • अल्फांसो आम का स्थानीय नाम हापुस है, इसे ‘आमों का राजा’ कहा जाता है।
    • अल्फांसो आम का उत्पादन मुख्यतः महाराष्ट्र के रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग, पालघर और ठाणे जिलों में किया जाता है।
    • अल्फांसो आम को जापान, कोरिया तथा यूरोप के देशों में निर्यात किया जाता है।
    • हाल ही में अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया के देशों में भी इसके आयात को मंजूरी प्रदान की गई।
    • ऐसा माना जाता है कि अल्फांसो आम का नामकरण पुर्तगाली जनरल अल्फांसो-डी-अल्बुकर्क के नाम पर किया गया है।
    • जी.आई. टैग क्या है?
    • जी. आई. टैग किसी उत्पाद की गुणवत्ता व विशिष्टता का आश्वासन होता है।
    • किसी विशेष वस्तु की गुणवत्ता को व्यक्त करने के लिए यह आवश्यक है कि ग्राहकों को उसके उत्पादन स्थान के बारे में भी बताया जाए।




    • अतः किसी वस्तु/उत्पाद की विशेषता बताने के किसी स्थान विशेष के नाम का प्रयोग ‘भौगोलिक संकेतक’ कहा जाता है।
    • भौगोलिक संकेतकों को ट्रिप्स करार के अंतर्गत बौद्विक संपदा अधिकारों के घटक के रूप में शामिल किया जाता है।
    • भारत ने विश्व व्यापार संगठन के सदस्य के रूप में ‘माल के भौगोलिक उपदर्शन (रजिस्ट्रीकरण एवं संरक्षण) अधिनियम, 1999’ को लागू किया है तथा यह अधिनियम वर्ष 2003 से प्रभाव में है।
    • अन्य तथ्य
    • वर्ष 2003 से अब तक भौगोलिक संकेतकों के रूप में 326 उत्पाद पंजीकृत किए जा चुके हैं।
    • वर्ष 2004 में ‘दार्जिलिंग चाय’ जी.आई. टैग प्राप्त करने वाला पहला भारतीय उत्पाद है।
    • हाल ही में बिहार की ‘शाही लीची’ को जी.आई. टैग प्रदान किया गया।
    • अल्फांसोडीअल्बुकर्क : एक नजर
    • अल्फांसो-डी-अल्बुकर्क 1503 ई. में स्क्वाड्रन कमांडर (Squadron Commander) के रूप में भारत आया।




  • 1509 ई. में इसे भारत का वायसराय नियुक्त कर दिया गया।
  • अल्बुकर्क ने 1510 ई. में बीजापुर के शासक युसुफ आदिलशाह से गोवा जीतकर पुर्तगाली व्यापारिक राजधानी बनाया।
  • अल्बुकर्क ने 1511 ई. में मलक्का एवं I515 ई. में फारस की खाड़ी पर अधिकार कर लिया।
  • अल्बुकर्क को भारत में पुर्तगाली साम्राज्य का वास्तविक संस्थापक माना जाता है।

लेखक-पवन कुमार तिवारी