Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

अंतरराष्ट्रीय बौद्ध सम्मेलन

International Buddhist Conference
  • वर्तमान परिदृश्य
  • 23 अगस्त, 2018 को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने विज्ञान भवन, नई दिल्ली में ‘छठवें अंतरराष्ट्रीय बौद्ध सम्मेलन’ का उद्घाटन किया।
  • 23-26 अगस्त, 2018 के मध्य नई दिल्ली और अजंता (महाराष्ट्र) में यह सम्मेलन संयुक्त रूप से आयोजित किया गया, जिसमें राजगीर, नालंदा एवं बोधगया (बिहार) और सारनाथ (उ.प्र.) का भ्रमण भी शामिल था।
  • गौरतलब है कि इस सम्मेलन का आयोजन पर्यटन मंत्रालय ने महाराष्ट्र, बिहार और उत्तर प्रदेश की सरकारों के सहयोग से किया।
  • छठवें अंतरराष्ट्रीय बौद्ध सम्मेलन का विषय “Buddha Path – The Living Heritage” था।
  • उद्देश्य
  • अंतरराष्ट्रीय बौद्ध सम्मेलन के आयोजन का उद्देश्य देश में पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देने के साथ ही शैक्षणिक, कूटनीतिक और व्यावसायिक हितों को साधना है।
  • सम्मेलन के प्रतिभागी
  • इस सम्मेलन में बांग्लादेश, इंडोनेशिया, म्यांमार और श्रीलंका के मंत्रिस्तरीय प्रतिनिधियों ने भाग लिया।
  • इसके अतिरिक्त सम्मेलन में बौद्ध धर्म से जुड़े विभिन्न पंथों, विद्वानों, जन नेताओं, पत्रकारों और अंतरराष्ट्रीय एवं घरेलू टूर ऑपरेटरों ने भी प्रतिभाग किया।
  • अंतरराष्ट्रीय बौद्ध सम्मेलन में ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, भूटान, ब्राजील, कंबोडिया, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, हांगकांग, इंडोनेशिया, जापान, मलेशिया, मंगोलिया, नॉर्वे, नेपाल, म्यांमार, वियतनाम, ब्रिटेन, अमेरिका, थाईलैंड और श्रीलंका सहित 29 देशों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।
  • सम्मेलन की प्रमुख गतिविधियां
  • सम्मेलन के उद्घाटन अवसर पर पर्यटन मंत्रालय ने भगवान बुद्ध के जीवन से जुड़े स्थलों की जानकारी प्रदान करने वाली वेबसाइट (Land of buddha.in) की शुरुआत की।
  • इस अवसर पर देश में स्थित बौद्ध स्थलों पर एक फिल्म भी दिखाई गई।
  • सम्मेलन के दौरान पर्यटन मंत्रालय एवं राज्य सरकारों द्वारा विभिन्न तरह की प्रस्तुतियां दी गईं।
  • अंतरराष्ट्रीय बौद्ध सम्मेलन के दौरान विद्वानों और बौद्ध भिक्षुओं के बीच विचार-विमर्श का कार्यक्रम रखा गया।
  • पर्यटन मंत्रालय ने सम्मेलन के दौरान निवेशकों की बैठक आयोजित की, ताकि विश्व स्तर के बौद्ध स्थलों का निर्माण करने के लिए निवेश को आकर्षित किया जा सके।
  • इसके अतिरिक्त सम्मेलन के दौरान विदेशी और भारतीय टूर ऑपरेटरों के बीच भी बैठक संपन्न हुई।
  • अन्य महत्वपूर्ण तथ्य
  • पर्यटन मंत्रालय प्रत्येक दो वर्ष के अंतराल पर इस सम्मेलन का आयोजन करता है।
  • पिछला सम्मेलन अक्टूबर, 2016 में सारनाथ (वाराणसी) और बोधगया (बिहार) में संयुक्त रूप से आयोजित हुआ था।

लेखक-धीरेन्द्र त्रिपाठी