Contact Us: 0532-2465524, 25, M.-9335140296    
E-mail : ssgcpl@gmail.com

ग्लोबल हंगर इंडेक्स, 2017

October 26th, 2017
global hunger index 2017
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

  • सूचकांक
  • वैश्विक भुखमरी सूचकांक (GHI : Global Hunger Index) विश्व के विकासशील देशों में भुखमरी एवं कुपोषण की गणना एवं इसके तुलनात्मक अध्ययन हेतु एक बहुआयामी साधन है।
  • वर्ष 2006 से ही यह सूचकांक प्रतिवर्ष ‘अंतरराष्ट्रीय खाद्य नीति अनुसंधान संस्थान’ (IFPRI) द्वारा दो गैर-सरकारी संगठनों यथा ‘वेल्टहंगरहिल्फ’ (Welthungerhilfe) और ‘कंसर्न वर्ल्डवाइड’ (Concern Worldwide) की सहायता से प्रकाशित किया जा रहा है।
  • संकेतक
  • भुखमरी की बहुआयामी प्रकृति के मापन के लिए यह सूचकांक निम्न चार संकेतकों (Indicators) पर आधारित है –
    (i) अल्पपोषण (Undernourishment)
    ऐसी जनसंख्या जो अल्पपोषित है अर्थात जिसका कैलोरी अंतर्ग्रहण अपर्याप्त है।
    (ii) बाल दुबलापन (Child Wasting)
    पांच वर्ष से कम आयु के ऐसे बच्चे जो दुर्बल एवं कमजोर हैं अर्थात जिनका वजन उनकी लंबाई के अनुपात में कम है।
    (iii) बाल ठिगनापन (Child Stunting)
    पांच वर्ष से कम आयु के ऐसे बच्चे जो ठिगने हैं अर्थात जिनकी लंबाई उनकी आयु के अनुपात में कम है;
    (iv) बाल मृत्यु दर (Child Mortality)
    पांच वर्ष से कम आयु के बच्चों की मृत्यु दर
  • GHI स्कोर
  • भुखमरी से निपटने की दिशा में हो रही प्रगति और इसके रास्ते में आ रही बाधाओं के आकलन के लिए ‘अंतरराष्ट्रीय खाद्य नीति अनुसंधान संस्थान’ (IFPRI) प्रतिवर्ष GHI स्कोर की गणना करता है।
  • GHI स्कोर की गणना उपर्युक्त चार संकेतकों के आधार पर ही की जाती है।
  • वर्ष 2017 का वैश्विक भुखमरी सूचकांक विभिन्न देशों के वर्ष 2012 से 2016 तक के आंकड़ों पर आधारित है।
  • स्पष्ट है कि वर्ष 2017 का GHI स्कोर संबंधित देश में वर्ष 2012 से 2016 की अवधि के दौरान भुखमरी एवं अल्पपोषण के स्तर को प्रदर्शित करता है।
  • भुखमरी मापन का पैमाना
  • वैश्विक भुखमरी सूचकांक 100 आधार बिंदुओं के पैमाने पर तैयार किया जाता है, जिसमें शून्य (0) सबसे अच्छा स्कोर माना जाता है अर्थात कोई भूखा नहीं जबकि 100 सबसे खराब स्कोर होता है जिसका अर्थ है कि सभी भुखमरी की स्थिति में हैं।
  • यह दोनों की स्थितियां व्यवहार में नहीं पाई जाती हैं, व्यवहार में ‘शून्य से सौ’ (0-100) के बीच की स्थिति पाई जाती है।
  • स्पष्ट है कि इस सूचकांक में ‘कम मान’ किसी देश की अच्छी स्थिति को दिखाता है, वहीं ‘अधिक मान’ संबंधित देश में भुखमरी की भयावहता को प्रदर्शित करता है।
  • भुखमरी की गंभीरता को प्रदर्शित करने के लिए इस सूचकांक में निम्न पांच वर्ग बनाए गए हैं –
GHI स्कोर £ 9.9 10.0-19.9 20.0-34.9 35.0-39.9 50.0 £
भुखमरी की निम्न मध्यम गंभीर भयावह चरम भयावह
गंभीरता का  स्तर (Low) (Moderate) (Serious) (Alarming) (Extremely Alarming)
  • नवीनतम रिपोर्ट
    12 अक्टूबर, 2017 को IFPRI द्वारा ‘वैश्विक भुखमरी सूचकांक, 2017’ जारी किया गया।
  • यह इस सूचकांक का 12वां संस्करण है।
  • वैश्विक भुखमरी सूचकांक, 2017 की मुख्य विषय वस्तु है, ‘‘भूख की असमानताएं’’ (The Inequalities of Hunger)
  • इस रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2000 की तुलना में वर्तमान में वैश्विक भुखमरी की स्थिति में 27 प्रतिशत का सुधार दर्ज किया गया है।
  • वर्ष 2017 में सूचकांक में शामिल सभी देशों का औसत GHI स्कोर 21.8 है, जो वर्ष 2000 के औसत GHI स्कोर (29.9) की तुलना में 27 प्रतिशत कम है।
  • वर्ष 2017 की रिपोर्ट में 119 देशों में भुखमरी की स्थिति का आकलन प्रस्तुत किया गया है।
  • इस वर्ष केवल एक देश यथा मध्य अफ्रीकी गणराज्य (GHI स्कोर : 50.9, रैंक : 119) का GHI स्कोर 50 या उससे अधिक दर्ज किया गया, जो यहां भुखमरी की चरम भयावह स्थिति को प्रदर्शित करता है।
  • वर्ष 2017 के वैश्विक भुखमरी सूचकांक के अनुसार, सात देश (चाड, सियरा लियोन, मेडागास्कर, जाम्बिया, यमन, सूडान तथा लाइबेरिया) भुखमरी की भयावह (Alarming) स्थिति का सामना कर रहे हैं।
  • इनके अतिरिक्त 44 देश भुखमरी की गंभीर स्थिति तथा 24 देश मध्यम स्थिति का सामना कर रहे हैं।
  • केवल 43 देश ही भुखमरी की निम्न स्थिति में हैं।
  • वर्ष 2017 की इस रिपोर्ट में ऐसे 14 देश जिनका GHI स्कोर 5 से कम है, उन्हें अलग-अलग रैंक प्रदान नहीं की गई है, बल्कि उन्हें सामूहिक रूप से 1-14 रैंक तक सूचीबद्ध किया गया है।
  • क्षेत्रीय दृष्टि से, दक्षिण एशिया (GHI स्कोर : 30.9) भुखमरी की समस्या से सर्वाधिक पीड़ित है।
  • मध्य अफ्रीकी गणराज्य की 58.6 प्रतिशत जनसंख्या अल्पपोषित है, जो विश्व में सर्वाधिक है।
  • तिमोर-लेस्ते में बाल ठिगनापन की समस्या विश्व में सर्वाधिक (56.6%) है।
  • दक्षिण सूडान में पांच वर्ष से कम आयु के 27.3 प्रतिशत बच्चे बाल दुबलापन की समस्या से ग्रसित हैं, यह संख्या विश्व में सर्वाधिक है।
  • अंगोला में पांच वर्ष से कम आयु के बच्चों की मृत्यु दर विश्व में सर्वाधिक (15.7%) है।
  • रिपोर्ट में भारत
  • वैश्विक भुखमरी सूचकांक, 2017 में भारत, जिबूती एवं रवांडा के साथ संयुक्त रूप से 100वें स्थान पर है।
  • भारत का GHI स्कोर 31.4 है।
  • सूचकांक में भारत को गंभीर वर्ग में रखा गया है।
  • उल्लेखनीय है कि वैश्विक भुखमरी सूचकांक, 2016 में भारत (GHI स्कोर : 28.5) 97वें स्थान पर था।
  • वर्ष 2017 के सूचकांक में भारत को अपने पड़ोसी देशों यथा-नेपाल (रैंक : 72), म्यांमार (रैंक : 77), बांग्लादेश (रैंक : 88), श्रीलंका (रैंक : 84) तथा चीन (रैंक : 29) की तुलना में निचली रैंक प्राप्त हुई है।
  • हालांकि पाकिस्तान (GHI स्कोर : 32.6) वर्ष 2017 के सूचकांक में 106वां स्थान (भारत की तुलना में निचली रैंक) प्राप्त हुआ है।
विभिन्न संकेतकों के संदर्भ में भारत की स्थिति
अल्पपोषित जनसंख्या बाल दुबलापन बाल ठिगनापन पांच वर्ष से कम आयु के बच्चों
(प्रतिशत में) (प्रतिशत में) (प्रतिशत में) की मृत्यु दर (प्रतिशत में)
(2014-2016) (2012-2016) (2012-2016) -2015
14.5 21 38.4 4.8

लेखक-सौरभ मेहरोत्रा


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •