Contact Us: 0532-246-5524,25, M: -9335140296 Email: [email protected]

प्रोजेक्ट सनराइज

Project Sunrise

उत्तर-पूर्व क्षेत्र की अपनी विशिष्ट संस्कृति तथा भौगोलिक अवस्थिति है। यह क्षेत्र कृषि, उद्योग, व्यापार, शिक्षा तथा स्वास्थ्य में पिछड़ा हुआ है। भारत सरकार इस क्षेत्र को देश के विकास की मुख्यधारा से जोड़ने के लिए इसके सभी क्षेत्रों में विकास करने के लिए समुचित कदम उठा रही है। इसी क्रम में भारत सरकार द्वारा उत्तर-पूर्व में स्वास्थ्य क्षेत्र में सुधार करने तथा एच.आई.वी./एड्स के प्रसार को रोकने के लिए ‘प्रोजेक्ट सनराइज’ का शुभारंभ किया गया। प्रोजेक्ट सनराइज से संबंधित महत्त्वपूर्ण तथ्य इस प्रकार हैं-

  • 6 फरवरी, 2016 को केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जे.पी. नड्डा द्वारा मणिपुर की राजधानी इम्फाल में प्रोजेक्ट सनराइज का शुभारंभ किया गया।
  • प्रोजेक्ट सनराइज का उद्देश्य पूर्वोत्तर के 8 राज्यों (जिनमें सात बहनों के नाम से प्रसिद्ध असम, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम त्रिपुरा तथा सिक्किम शामिल हैं) में एच.आई.वी./एड्स का नियंत्रण तथा इसके प्रसार को रोकना है।
  • यह कार्यक्रम पहले से चल रहे ‘राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण कार्यक्रम’ (NACP-National Aids Control Programme) का पूरक है। इसमें इंजेक्शन के जरिए ड्रग्स लेने वाले लोगों को एच.आई.वी. से बचाने पर बल दिया जाएगा।
  • यह एक पंचवर्षीय कार्यक्रम है जिसे (वर्ष 2015-20) के दौरान पूर्वोत्तर के 8 राज्यों के 20 जिलों में ‘राज्य एड्स नियंत्रण सोसायटी’ (SACS) के साथ घनिष्ठ समन्वय करके क्रियान्वित की जाएगी।
  • यह परियोजना राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन (NACO), सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (CDC) और एफ.एच.आई.-360 (FHI-360) के सहयोग से क्रियान्वित की जाएगी।
  • प्रोजेक्ट सनराइज को वित्तीय एवं तकनीकी सहायता अमेरिका स्थित ‘सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल’ (CDC) द्वारा प्रदान किया जाएगा। इसका क्रियान्वयन फैमिली हेल्थ इंटरनेशनल-360 (FHI-360) द्वारा किया जाएगा।
  • ज्ञातव्य है कि नाको (National Aids Control Organisation) की स्थापना वर्ष 1992 में हुई थी। यह भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय का एक प्रभाग है। यह भारत में एच.आई.वी./एड्स नियंत्रण कार्यक्रम के लिए नेतृत्व प्रदान करता है।
  • इसी के साथ ही वर्ष 1992 में राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण कार्यक्रम का प्रारंभ किया गया था। इसका उद्देश्य देश में एड्स के प्रसार को रोकना है।
  • एफ.एच.आई.-360 (FHI-360) मानव विकास तथा जीवन में स्थायी सुधार लाने के लिए समर्पित एक गैर-लाभकारी संगठन है।

लेखक- देवमन यादव