Contact Us: 0532-2465524, 25, M.-9335140296    
E-mail : ssgcpl@gmail.com

अतुल्य भारत पर्यटन निवेशक शिखर सम्मेलन

December 28th, 2016
atulya bharat Tourism Investor Summit
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

‘अतुल्य भारत पर्यटन निवेशक शिखर सम्मेलन’ (आईआईटीआईएस), 2016 का आयोजन नई दिल्ली के विज्ञान भवन में पर्यटन मंत्रालय द्वारा किया गया। इस सम्मेलन के द्वारा भारत सरकार, भारत में पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ-साथ निवेशकों को भारत में निवेश के अवसरों से अवगत कराना चाहती है।

  • 21-23 सितंबर, 2016 के मध्य नई दिल्ली के विज्ञान भवन में पर्यटन मंत्रालय द्वारा ‘अतुल्य भारत पर्यटन निवेशक शिखर सम्मेलन’ (आईआईटीआईएस), 2016 का आयोजन किया गया।
  • इस सम्मेलन का आयोजन पर्यटन मंत्रालय द्वारा भारतीय पर्यटन वित्त निगम (टीएफसीआई) और भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के सहयोग से किया गया।
  • आईआईटीआईएस घरेलू और अंतरराष्ट्रीय निवेशकों के लिए भारत के सभी राज्यों और निजी क्षेत्र के परियोजना प्रमुखों से मिलने के लिए एक मंच उपलब्ध कराता है।
  • इसके प्रमुख उद्देश्य हैं-
  • निवेशकों, नीति निर्माताओं तथा भारतीय उद्योग जगत के दिग्गजों एवं अन्य हितधारकों के साथ बातचीत के लिए एक वैश्विक मंच प्रदान करना।
  • निवेश को आकर्षित करने हेतु भारतीय राज्यों/निजी पर्यटन परियोजनाओं को प्रदर्शित करना।
  • बी2 बी लिंकेज (Business-to-Business) के रूप में भागीदारी को उत्प्रेरित करना।
  • तकनीकी सहयोग एवं वैश्विक सहभागिता के माध्यम से क्षेत्रीय निवेशकों हेतु अवसर की पहचान करना।
  • इस शिखर सम्मेलन में निवेश करने योग्य संपत्तियों के संबंधों में राज्यों की प्रस्तुतियां, भारत में निवेश क्यों करें पर चर्चा, पर्यटन क्षेत्र में सूक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्यम, पर्यटन के मूलभूत ढांचे पर परिचर्चा, स्टार्टअप पर सत्र, डिजिटल इंडिया, स्वदेश दर्शन में निवेश, समझौते- पत्र पर हस्ताक्षर आदि किए गए।
  • इस शिखर सम्मेलन में राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों सहित, प्रमुख हितधारकों ने अपनी तैयार निवेश योग्य परियोजनाओं सहित, बैंक एवं वित्तीय संस्थानों, घरेलू निवेशकों, वैश्विक निवेशकों, मनोरंजन कंपनियों, होटल व्यवसायी, आदि ने प्रतिभाग किया।
  • भारतीय उद्योग परिसंघ एवं भारतीय पर्यटन वित्त निगम इस शिखर सम्मेलन के मुख्य भागीदार थे।
  • चार ज्ञान भागीदार-अर्न्स्ट एंड यंग, केपीएमजी, येस बैंक तथा इन्वेस्ट इंडिया थे।
  • इन्होंने परियोजनाओं की पहचान, पर्यटन नीति अपडेट के बारे में सुझाव तथा सम्मेलन के दौरान निवेशकों के सामने इन्हें प्रस्तुत करने में राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की सहायता की।
  • 27 से अधिक भारतीय राज्यों ने इसमें भाग लिया।
  • लगभग 70 कंपनियों से 140 निवेशकों की भागीदारी हुई।
  • लगभग 600 निवेश योग्य परियोजनाओं का प्रदर्शन किया गया।
  • दो दिनों में 21 संगोष्ठियों का आयोजन किया गया।
  • पूर्व निर्धारित ऑनलाइन बी2बी एवं बी2जी (Business-to-Government) बैठकों का आयोजन किया गया।
  • इसके अंतर्गत अमेरिका, यूएई, थाईलैंड, हांगकांग, शंघाई, सिंगापुर, गुजरात, मुंबई तथा भोपाल में इवेंट रोड शो का आयोजन किया गया।

लेखक-गौरव श्रीवास्तव


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •