सूक्ष्म उपग्रह बैंजिंग-2 का प्रक्षेपण

Bnsing-2 micro satellite launch

22 अक्टूबर, 2016 को चीन के अंतरिक्ष प्रयोगशाला तियांग आंग-2 से सूक्ष्म उपग्रह (Micro Satellite) बैंजिंग-2 (Banxing-2) को प्रमोचित किया गया।

  • बैंजिंग-2n (BX-2) का वजन 40 किग्रा. है, जिसका आकार एक डेस्कटॉप प्रिंटर के लगभग बराबर है।
  • इसमें कई दृश्य प्रकाश कैमरे (Visible Light Camera) लगे हैं।

  • BX-2 उपग्रह में अमोनिया आधारित प्रणोदन प्रणाली के साथ ही इसकी कक्षा को समायोजित करने के लिए तीन सोलर पैनल भी लगे हैं।
  • शंघाई एकेडमी ऑफ स्पेसफ्लाइट टेक्नोलॉजी द्वारा विकसित यह उपग्रह वही कार्य करेगा जो इसके पूर्ववर्ती BX-1 ने शेनझाऊ-VII के लिए वर्ष 2008 में किया था।
  • इस उपग्रह का कार्य अंतरिक्ष प्रयोगशाला तियांग-आंग-2 और अंतरिक्षयान शेनझाऊ-XI का चित्र लेना है, जिससे इन दोनों में आने वाली कमियों का पता लगाया जा सके।
  • इसके अलावा यह उपग्रह अंतरिक्ष के मलबे को भी मॉनीटर करेगा।
  • तियांग-आंग-2 चीन की एक प्रायोगिक प्रयोगशाला है, जिसका प्रक्षेपण 15 सितंबर, 2016 को किया गया था। इसकी तकनीक का उपयोग चीन के वृहद मॉड्यूलर स्पेस स्टेशन में किया जाएगा, जिसे वर्ष 2023 में प्रक्षेपित करने की योजना है।
  • शेनझाऊ-XI मानवयुक्त अंतरिक्षयान है, जिसे चीन द्वारा 17 अक्टूबर, 2016 को जिक्वॉन सैटेलाइट लांच सेंटर (गोबी मरुस्थल) से छोड़ा गया। यह चीन का छठां मानवयुक्त अंतरिक्ष मिशन है। 19 अक्टूबर, 2016 को यह यान तियांग-आंग-2 से जुड़ा।
  • शेनझाऊ-XI से दो अंतरिक्ष यात्री-जिन हेपिंग और चेन डोंग 33 दिन की अंतरिक्ष यात्रा पर गए। दिनों के हिसाब से यह चीन का अब तक का सबसे लंबा अंतरिक्ष मिशन है।
  • मीडिया ने बैंजिंग-2 का नाम ‘सेल्फी स्टिक’ (Selfie Stick) रखा है।

लेखक-श्याम सुन्दर मिश्रा