राष्ट्रीय आय के अनंतिम अनुमान, 2016-17

Final estimate of national income 2016-17

केंद्रीय सांख्यिकी एवं कार्यान्वयन मंत्रालय के तहत ‘केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय’ (CSO) द्वारा वित्त वर्ष 2016-17 के लिए स्थिर (2011-12) मूल्यों एवं चालू मूल्यों पर राष्ट्रीय आय के अनंतिम अनुमान (Provisional Estimate : P.E.) 31 मई, 2017 को जारी किए गए। वर्ष 2016-17 के लिए यह अनुमान कृषिगत एवं औद्योगिक उत्पादन के नवीनतम आकलनों, सरकारी व्यय तथा मुख्य क्षेत्रकों यथा-संचार, बैंकिंग एवं बीमा, रेलवे भिन्न परिवहन आदि के अब तक उपलब्ध आंकड़ों के अनुमान पर आधारित हैं। इन अनुमानों के प्रमुख बिंदु निम्नलिखित हैं-

  • सकल घरेलू उत्पाद (GDP)
  • वर्ष 2016-17 के अनंतिम अनुमानों के अनुसार, स्थिर (2011-12) मूल्यों पर वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद (GDP) 7.1 प्रतिशत वृद्धि के साथ 121.90 लाख करोड़ रुपये अनुमानित है।
  • वर्ष 2015-16 में सकल घरेलू उत्पाद 113.81लाख करोड़ रुपये अनुमानित था।
  • अनंतिम अनुमानों के अनुसार, चालू कीमतों पर वर्ष 2016-17 में सकल घरेलू उत्पाद गत वर्ष की तुलना में 11.0 प्रतिशत वृद्धि के साथ 151.84 लाख करोड़ रुपये के स्तर पर अनुमानित है जबकि गत वर्ष (2015-16) में यह 136.82 लाख करोड़ रुपये अनुमानित था।
  • वर्तमान मूल्यों (Current Price) पर जिन क्षेत्रों में 9 प्रतिशत से ज्यादा की वृद्धि दर दर्ज की है उनमें कृषि, विनिर्माण, व्यापार, होटल, परिवहन, संचार एवं प्रसारण संबंधी सेवाएं, वित्तीय, अचल संपत्ति एवं प्रोफेसनल सेवाएं और लोक प्रशासन, रक्षा एवं अन्य सेवाएं शामिल हैं।
राष्ट्रीय आय से संबंधित प्रमुख आंकड़े एक दृष्टि में
 मद2011-12 के स्थिर मूल्यों परचालू मूल्यों पर
 2015-16 के अनुमान (रु. लाख करोड़ में)2016-17 के अनंतिम अनुमान (रु. लाख करोड़ में)2015-16 के अनुमान (रु. लाख करोड़ में)2016-17 के अनंतिम अनुमान (रु. लाख करोड़ में)
1.सकल घरेलू उत्पाद  (GDP)113.81 (8.0%)121.90 (7.1%)136.82 (9.9%)151.82 (11.0%)
2.निवल घरेलू उत्पाद (NDP)101.20 (8.1%)108.42 (7.2%)122.37 (10.2%)135.98 (11.1%)
3.सकल मूल्य वर्धन (GVA) बुनियादी कीमतों पर104.91 (7.9%)111.85 (6.6%)124.59 (8.5%)136.70 (9.7%)
4.सरल राष्ट्रीय आय (GNI)112.46 (8.0%)120.35 (7.0%)135.22 (10.0%)149.94(10.9%)
5.शुद्ध राष्ट्रीय आय (NNI)99.82 (8.1%)106.87 (7.1%)120.77 (10.3%)134.08 (11.0%)
6.प्रति व्यक्ति शुद्ध राष्ट्रीय आय (रुपये में) (NNI Percapita in Rs.)77803 (6.8%)82269 (5.7%)94130 (8.9%)103219 (9.7%)
सकल मूल्य संवर्धन (GVA) में क्षेत्रवार वृद्धि (अनंतिम अनुमान, 2016-17)
क्षेत्रस्थिर कीमतों पर

(आधार वर्ष, 2011-12)

चालू कीमतों पर
1कृषि, वानिकी एवं मत्स्यिकी4.99
2खनन एवं उत्खनन1.81.9
3विनिर्माण7.99.3
4बिजली, गैस, जलापूर्ति तथा अन्य सेवाएं7.26.5
5निर्माण1.73.5
6व्यापार, होटल, परिवहन, संचार एवं प्रसारण संबंधी सेवाएं7.89.8
7वित्त, रियल एस्टेट एवं व्यावसायिक सेवाएं5.79.8
8लोक प्रशासन, रक्षा एवं अन्य सेवाएं11.316.6
बुनियादी कीमतों पर जीवीए (GVA) में वृद्धि6.69.7

प्रमुख सूचकांकों के आधार दर में परिवर्तन

  • 12 मई, 2017 को वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के औद्योगिक नीति एवं संवर्धन विभाग के ‘आर्थिक सलाहकार कार्यालय’ (OEA) द्वारा ‘थोक मूल्य सूचकांक’ (WPI) के आधार वर्ष की पुरानी शृंखला (2004-05) को संशोधित करके नई शृंखला (2011-12) जारी की गई।
  • 12 मई, 2017 को ही सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय के ‘केंद्रीय सांख्यिकी संगठन’ (CSO) द्वारा ‘औद्योगिक उत्पादन सूचकांक’ (IIP) के आधार वर्ष की पुरानी शृंखला (2004-05) को संशोधित करते हुए नई शृंखला (2011-12) जारी की गई।
  • ‘केंद्रीय सांख्यिकी संगठन’ (CSO) द्वारा 13 अक्टूबर, 2016 को ‘उपभोक्ता मूल्य सूचकांक’ (CPI) के आधार वर्ष की पुरानी शृंखला (2010=100) को संशोधित करते हुए नई शृंखला (2012=100) कर दिया गया था, जो जारी होने के साथ ही जनवरी, 2015 से प्रभावी हो गया।
  • थोक मूल्य सूचकांक (WPI) के अब तक छः शृंखलाएं ( वर्ष 1952-53, 1961-62, 1970-71, 1981-82, 1993-94 और वर्ष 2004-05) संशोधित की जा चुकी हैं।
  • थोक मूल्य सूचकांक (WPI) की वर्तमान नई शृंखलाएं (2011-12) सातवीं संशोधित (Seventh Revision) शृंखला है।
  • आधार वर्ष की शृंखला (Series) में संशोधन आमतौर पर गठित कार्यकारी दल (Working Group) की सलाह पर किया जाता है।
  • उल्लेखनीय है कि वर्तमान की डब्ल्यूपीआई (WPI) शृंखला पर सलाह हेतु 19 मार्च, 2012 को योजना आयोग के पूर्व सदस्य स्वर्गीय डॉ. सौमित्र चौधरी की अध्यक्षता में कार्यकारी दल का गठन किया गया था।
  • थोक मूल्य सूचकंाक की नई शृंखला (2011-12) में तीन प्रमुख समूह प्राथमिक सामग्री (Primary Article), ईंधन और शक्ति (Fuel and Power) तथा विनिर्मित उत्पाद (Manufactured Product) शामिल हैं।
  • डब्ल्यूपीआई की नई शृंखला (2011-12) की सूचकांक टोकरी (Basket Index) में कुल 697 मदें शामिल हैं जिसमें प्राथमिक सामग्री के अंतर्गत 117 मदें, ईंधन और शक्ति के तहत 16 मदें तथा विनिर्मित उत्पादों के तहत 564 मदें शामिल हैं।

लेखक-शिव शंकर तिवारी