UPSI Toh Online Test Series

UPSI Toh Online Test Series

UPSI Toh Online Test Series More »

SSC Toh Online Prep. Test Series

SSC Toh Online Prep. Test Series

SSC Toh Online Prep. Test Series More »

SSC Toh CHSL (10+2) Online Test Series

SSC Toh CHSL (10+2) Online Test Series

SSC Toh CHSL (10+2) Online Test Series More »

Delhi Police Constable Online Test Series

Delhi Police Constable Online Test Series

Delhi Police Constable Online Test Series More »

Railway Mains Toh Online Test Series

Railway Mains Toh Online Test Series

Railway Mains Toh Online Test Series More »

 

भारत-बांग्लादेश संयुक्त सैन्य अभ्यास, 2016

India - Bangladesh joint military exercises

भारत-बांग्लादेश का साझा इतिहास, साझी विरासत, साझी भाषा-संस्कृति, दोनों देशों को आपस में जोड़ती है। भारत के प्रयासों द्वारा वर्ष 1971 में इस स्वतंत्र राष्ट्र को संप्रभुता हासिल हुई एवं ये भारत के ही प्रयास थे कि बांग्लादेश को वर्ष 1974 में संयुक्त राष्ट्र संघ की सदस्यता प्राप्त हुई। उल्लेखनीय है कि जल-विवाद, सीमा-विवाद, न्यू मूर द्वीप की समस्या, शरणार्थी समस्या, आतंकवाद, भारत-विरोधी गतिविधियों आदि विवादित मुद्दों के कारण दोनों देशों के मध्य तनाव की स्थिति बनी हुई है। ऐसे में भारत-बांग्लादेश संयुक्त सैन्याभ्यास (सम्प्रीति), 2016 न केवल सेनाओं को प्रशिक्षण प्रदान करेगा साथ ही साथ दोनों देशों के रिश्तों को भी मजबूती प्रदान करेगा।

  • 5-18 नवंबर, 2016 के मध्य भारत-बांग्लादेश रक्षा सहयोग के भाग के रूप में छठां संयुक्त सैन्य प्रशिक्षण अभ्यास (SAMPRITI) 2016 का आयोजन किया गया।
  • इस सम्प्रीति का आयोजन बंगबंधु सेना निवास (BBS), टंगैल (Tangail), ढाका, बांग्लादेश में किया गया।
  • ज्ञातव्य है कि सम्प्रीति का आयोजन बारी-बारी से दोनों देशों में किया जाता है।
  • भारत-बांग्लादेश संयुक्त सैन्य अभ्यास ‘सम्प्रीति’ एक संयुक्त सैन्य प्रयास है। जहां दोनों देश संयुक्त राष्ट्र चार्टर के तहत उग्रवाद एवं आतंकवाद के माहौल से एक साथ मुकाबला करने पर काम करते हैं।
  • कर्नल पी.एस. सांधी के नेतृत्व में भारतीय दल में ‘महार रेजीमेंट’ (Mahar Regiment) की एक कंपनी शामिल है जिसमें करीब 120 सैनिक होते हैं।
  • इस अभ्यास के प्रारंभ में दोनों देशों की सेनाएं एक-दूसरे के संगठनात्मक एवं संरचनात्मक रूप से परिचित होने के बाद संयुक्त रूप से लड़ाई का अभ्यास की तथा अंत में एक नियंत्रित एवं नकली वातावरण में आतंकवाद रोधी ऑपरेशन का अभ्यास किया गया।
  • ध्यातव्य है कि विगत वर्ष 2015 में इस सैन्य अभ्यास का आयोजन बीनागुडी, पश्चिम बंगाल, भारत में किया गया था।

लेखक-राकेश मिश्रा