दिल्ली ग्रामीण खेल महोत्सव, 2017

Delhi Rural Sports Festival 2017

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का खेलों में प्रदर्शन सुधारने और देश में खेलों को बढ़ावा देने हेतु केंद्र सरकार द्वारा विभिन्न योजनाएं संचालित की जा रही हैं। उदाहरणस्वरूप मई, 2016 में सरकार ने ‘खेलो इंडिया योजना’ का शुभारंभ किया था। इस योजना का उद्देश्य शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में नई प्रतिभाओं की तलाश करना है। इसी संदर्भ में हाल ही में ‘दिल्ली ग्रामीण खेल महोत्सव, 2017’ दिल्ली और एनसीआर क्षेत्र के ग्रामीण युवाओं को खेलों के प्रति प्रोत्साहित करने और उनके भीतर खेल संस्कृति को बढ़ावा देने हेतु आयोजित किया गया।

  • दिल्ली ग्रामीण खेल महोत्सव, 2017, 25-31 मार्च, 2017 तक आयोजित किया गया।
  • इसका आयोजन युवा मामले एवं खेल मंत्रालय ने दिल्ली सरकार के सहयोग से किया।
  • उद्देश्य-दिल्ली में खेल संस्कृति को बढ़ावा देना था।
  • इस खेल महोत्सव में एथलेटिक्स (100 एवं 400 मीटर दौड़, लंबी कूद) कबड्डी, खो-खो, वॉलीबॉल और कुश्ती स्पर्धाएं आयोजित की गईं।
  • इन स्पर्धाओं का आयोजन प्रखंड स्तर पर और अंतर-प्रखंड स्तर पर हुआ।
  • इसके अलावा रस्साकशी (पुरुष एवं महिला) और महिलाओं के लिए मटका दौड़ (100 मीटर) का आयोजन किया गया।
  • 50 वर्ष या उससे अधिक आयु वर्ग के प्रतिभागियों ने हेडगियर पहन कर रेस (200 मीटर) स्पर्धा में भाग लिया।
  • पहलवान गीता फोगाट, योगेश्वर दत्त और सुशील कुमार को ब्रांड एंबेसेडर नियुक्त किया गया था।
  • इन खेल स्पर्धाओं में पांच ब्लॉकों-अलीपुर, नांगलोई, नजफगढ़, महरौली और शहादरा ने भागीदारी की।
  • अंतर-प्रखंड स्तर की स्पर्धाएं बवाना में आयोजित की गई।
  • फाइनल इंदिरा गांधी स्टेडियम, नई दिल्ली में आयोजित हुआ।
  • लेखक-विक्रम प्रताप सिंह